LoveLove StoriesPoetry

प्रेम की तलाश का दुःख

मुझे बेहद दु:ख हो रहा है।
यहां से निकलने का…

मगर खुशी है निकल रहे हैं

अब भागेंगे सीधा।

इस शहर से दूर…
क्योंकि,इस शहर में मुझे प्रेम नहीं मिला


©अपना घरौंदा से प्रदीप कुमार

Tags

Pradeep Kumar

Founder, Editor-in-chief,Writer and PRO of Apna Gharaunda

Related Articles

Check Also
Close
Back to top button
Close
Close