poem

  • दो कवियों की रचना

    ऐसा कुछ नहीं होता, खासकर के जैसा हम सोचते हैं, वैसा कुछ नहीं होता। आना-जाना, रोना-धोना रुककर चलना, चलकर रुकना…

    Read More »
  • मैं नहीं लिख सकता

    मैं नहीं लिख सकता।मेरी दोस्त,मैं तुमपर कुछ नहीं लिख सकता।एक कविता लिखनी चाही थी, मैंनेजिसमें तुम होती, तुम्हारा जिक्र होता।…

    Read More »
Back to top button
Close
Close